Shiv Parashar   member login
Login with facebook
Jan 29 2017 C.S.M. Public School Dulhera, द्वितीय विराट कवि सम्मलेन, Nov 6 2016 लेफ्टिनेन्ट अतुल कटारिया मेमोरियल स्कूल, गुरुग्राम, विराट कवि सम्मेलन, Sep 28 2016 गाँव शमचाना, हरियाणा, कवि सम्मेलन, Sep 14 2016 वैश्य आर्य कन्या महाविद्यालय, बहादुरगढ़, हिंदी दिवस समारोह, Aug 15 2016 शहीदी पार्क बहादुरगढ़, राष्ट्रीय जन जागृति मिशन द्वारा स्वतंत्रता दिवस समारोह, Aug 13 2016 श्री रामा भारती स्कूल , बहादुरगढ़, राष्ट्रीय कवि सम्मेलन, Jul 17 2016 Nangloi, New Delhi, कलाम वीर विचार मंच कवित्त प्रवाह, Apr 3 2016 Janta TV, Janta Kavi Darbar, Mar 22 2016 Pashchim Vihar, New Delhi, राष्ट्रीय कवि सम्मेलन, Jan 31 2016 C.S.M. Public School Dulhera, Jhajjar, विराट हास्य कवि सम्मेलन, Jan 9 2016 New Delhi, ग़ज़ल कुम्भ, Dec 26 2015 गंगा थियेटर, रेलवे रोड, सांपला, अखिल भारतीय हास्य कवि सम्मलेन, Nov 29 2015 लाइन पार बहादुरगढ़, निरोगकुंज संस्थान द्वारा श्री राजीव दीक्षित जी की स्मृति में कार्यक्रम, Nov 1 2015 वैश्य स्कूल, रेलवे रोड बहादुरगढ़, हरियाणा दिवस के उपलक्ष्य पर राष्ट्रीय कवि सम्मलेन, Sep 27 2015 अग्रवाल धर्मशाला रेलवे रोड़, बहादुरगढ़, कलमवीर विचार मंच द्वारा कवि सम्मेलन, Aug 9 2015 टेक्निया ऑडिटोरियम, नई दिल्ली, राष्ट्रीय कवि संगम दिल्ली इकाई का प्रांतीय अधिवेशन, Jul 19 2015 संत नगर बुराड़ी नई दिल्ली, नवसृजन के मंच पर काव्यपाठ, May 14 2015 रामा भारती स्कूल बहादुरगढ़, 14 मई 2015 रामा भारती स्कूल बहादुरगढ़ में काव्यपाठ, May 3 2015 ओमेक्स सिटी बहादुरगढ़, बुध पूर्णिमा के पावन उत्सव पर ओमेक्स सिटी बहादुरगढ़ में काव्यपाठ, May 3 2015 जनता टीवी, 3 मई 2015 जनता टीवी पर जनता कवि दरबार, Mar 1 2015 पश्चिम विहार दिल्ली, 01 मार्च 2015 होली उत्सव पर पश्चिम विहार दिल्ली में कवि सम्मेलन,
Upcoming Events
 
Jan Logistics
 
Request for event
   
Name
Email
Mobile
Query
   
     
 
Youtube Channel
 
 
Blogs
द्वितीय विराट हास्य कवि सम्मेलन 1 year ago
गूंगे बनकर जीना सीखो...दीवारों के कान बहुत हैं
रविवार को गांव खरमाण के सी एस एम पब्लिक स्कूल के प्रांगण में द्वितीय विराट हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जनउद्बोधन समिति, कलमवीर विचार मंच और कविता संसार द्वारा आयोजित व लगभग तीन घंटे तक चले इस कार्यक्रम की अध्यक्षता वयोवृद्ध समाजसेवी बारहे के प्रधान उमेद देशवाल ने की व मंच संचालन युवा कवि शिव पाराशर ने किया।मंचासीन अतिथियों द्वारा किए गए दीप प्रज्जवलन व कुमा
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category समाचार 711 Member
 
Happy New Year 2017 1 year ago
फ़क़त ये साल बदला है हमारा हाल ना बदला,
हमें लेकर ज़माने का वही है ख़्याल ना बदला,
लगा इल्ज़ाम हम पर हम झुका नज़रें लगे चलने,
सितमगर वो मगर अपनी शराबी चाल ना बदला।
Blog photo
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category मुक्तक 469 Member
 
नोटबंदी 1 year ago
ऐसा ही कुछ लग रहा नोटबंदी के बाद,
उदय हुआ हो देश में मानो साम्यवाद,
मानो साम्यवाद बड़ा ना कोई छोटा,
ना लाइन में वी आई पी का कोई कोटा,
नोटबंदी थी बनी देश की बड़ी जरूरत,
अब बदलेगा भारत व बदलेगी सूरत।

#Demonetisation
Blog photo
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category कुंडलियाँ 957 Member
 
जो आया है जाना तय है 1 year ago
जो आया है जाना तय है,
खोना तय है पाना तय है।

उपवन में फूलों का भी तो,
खिलना व मुरझाना तय है।

कोशिश भी करनी होती है,
पहले से सब माना तय है।

वो तो बिलकुल हार चुके हैं,
जिनके पास बहाना तय है।

जिसने वक़्त नहीं पहचाना,
उसका फिर पछताना तय है।
शिव पाराशर
Blog photo
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category गजल 1658 Member
 
जब तेरा मन रख लेता हूँ 1 year ago
सीने पर ग़म रख लेता हूँ,
आँखें भी नम रख लेता हूँ।

मेरा भी मन रह जाता है,
जब तेरा मन रख लेता हूँ।

इन आँखों में सारे मंज़र,
सारे मौसम रख लेता हूँ।

जब बाँटू अपनों में हिस्सा,
मैं अपना कम रख लेता हूँ।

अच्छा और बुरा ना आँकूं,
जो दे हमदम रख लेता हूँ।
Blog photo
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category गजल 1191 Member
 
अब वो मुझसे दूर बहुत है 1 year ago
अब वो मुझसे दूर बहुत है,
दिखता पर बे-नूर बहुत है।

मैं भी हूँ मशहूर यहाँ पर,
वो भी तो मशहूर बहुत है।

सपने में मिलने आता है,
सच में वो मज़बूर बहुत है।

तुम मरहम ले आये लेकिन,
गहरा ये नासूर बहुत है।

तू तड़पा मत तड़पाने को,
दुनिया का दस्तूर बहुत है।

होठों पर शिकवा रखता है,
आँखों से मंज़ूर बहुत है।
शिव पाराशर
Blog photo
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category गजल 1944 Member
 
बहादुरगढ़ में हुआ राष्ट्रीय कवि सम्मेलन 1 year ago
जो गरीबों के काम आते हैं,
उनके आंगन में राम आते हैं..

बहादुरगढ़। नाहरा-नाहरी रोड स्थित श्री रामाभारती स्कूल में देश का 70 वां स्वतंत्रता दिवस काव्योत्सव के रूप में मनाया गया। हरियाणा साहित्य अकादमी और कलमवीर विचार मंच के संयुक्त तत्वावधान में देर रात तक चले इस कार्यक्रम में स्थानीय भाजपा विधायक नरेश कौशिक मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त ओजस्वी कवि डॉ.सारस्वत मनीषी के सा
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category समाचार 1095 Member
 
वोट की राजनीति 1 year ago
मेरे मोबाइल पर मैसेज आया:-

"नशे को न कहें
सेहत को हाँ
केंद्रीय सामाजिक न्याय और
अधिकारिता मंत्रालय"

तभी इन पंक्तियों ने जन्म लिया:-

एक सन्देश आया बड़ा ही विशेष आया छोड़िये नशे को और सेहत कमाइये,
मैंने कहा रद्द करो लाइसेंस नशे वाले और अब आगे आप नए ना बनाइये,
यही लागू कर आप बदलाव देखिये और पाली बैग वाली रट ना लगाइये
फ़ोन आया नेता जी का वोट की है राजनीति कहने य
Blog photo
Share 
Details
Member Shiv Parashar Category मुक्तक 2172 Member
 
ढाका हमला 1 year ago
एक धर्म की नाक डुबो दी ढाका के हत्यारों ने
कायरता की नींव रखी है मुट्ठी भर गद्दारों ने

कैसे कह दूँ आतंक का कोई धर्म नहीं होता
जिन्हें चाहिये मीठे फल, बीज नीम का नहीं बोता

मेरे देश में वन्देमातरम धर्म पे मोड़ा जाता है
यहाँ अगर योग करो तो धर्म से जोड़ा जाता है

तरिषि का खून देख कर मौन रहा नहीं जाता है
यही मौन फिर इतिहासों में कायरता कहलाता है

क्यों हमें रोज
Blog photo
Share 
Details
Member K.v. Sharma Category कविता 2224 Member
 
पिता 2 year ago
#पिता
जिसे पकड़ कर चलना सीखा
�वो ऊँगली आपकी
जो रोकती है गलतियों से हमें
वो आँखें आपकी
जो देती है तूफ़ानों में चलने की प्रेरणा
वो मुस्कान आपकी
जिस पर रखकर सर भूले सारे दर्द
वो काँधा आपका
जिसे थाम कर पार किये रास्ते कठिन
वो हाथ आपका
जिस पथ पर बढ़ते जाये आगे हम
वो कदम आपका
जिसके सहारे भूल जाये सारे गम
वो साथ आपका
जो रोकता है बह जाने से हमें
Share 
Details
Member K.v. Sharma Category कविता 1908 Member
 
माँ 2 year ago
#माँ(कविता)#poem
कड़वी है लेकिन समय की सच्चाई है
🖋🖋🖋🖋🖋🖋🖋🖋🖋

ईश्वर के वरदान, हमें श्राप लगते है
पुण्य हमारे हमें ,पाप लगते हैँ

तेरे सुखों के लिये झेल गयी सारे दुःख
आज वहीँ सुख़ माँ से खास लगते है

थोडा सा पढ़कर हम क्या सयाने हुऐ
माँ के विचार अब पुराने लगते है

बचपन में बोलना जिसने सिखलाया था
आज उसी के बोल हमें ताने लगते है

नींद
Blog photo
Share 
Details
Member K.v. Sharma Category कविता 1515 Member
 
उठो ब्राह्मणों 2 year ago
#परशुराम जयंती की हार्दिक शुभकामनाये
#कविता
उठो ब्राह्मणों शस्त्र संभालो,तुम परशुराम के वंशज हो
फरसे पे फिर धार लगालो,तुम परशुराम के वंशज हो।।
⚡ ⚡ ⚡ ⚡⚡ ⚡ ⚡
तुम अपनी पर आ जाओ तो ,चाणक्य बन सकते हो
नन्द वंश का अंत कराके,चन्द्रगुप्त घड़ सकते हो
काँटों वाले ताज में चाहो तो ,कोहिनूर जड़ सकते हो
सुरसा का तुम रूप देख कर,बजरंगी से बड़े सकते हो
नहीं बनो बस भोली गाय,पशु कभी तो
Blog photo
Share 
Details
Member K.v. Sharma Category कविता 1887 Member
 
भ्रूण हत्या /चीरहरण 2 year ago
#बेटियां#कविता
भरे दरबारों में गर चीरहरण नहीं होता, कोख में बेटियों का मरण नहीं होता।

गिध्दों से भरा गर वतन नहीं होता ,
नन्ही कलियों का यूँ हनन नहीं होता।

भरी पड़ी है गलियां दुशाशन से,
राहो पर अब कोई किशन नहीं होता।

ऋषिपरम्पराओं का गर गमन नहीं होता
Blog photo
Share 
Details
Member K.v. Sharma Category कविता 1472 Member
 
हम साथ है 2 year ago
#साथ#कविता #2saalBemisal
हम मिलकर साथ चलें तो, इतिहास बदल देंगें
जब साथ हो मेरा तुम्हारा, हालात बदल देंगे

अभी पंख खुले है मेरे,अभी छोड़ा है घोंसला
बाधाओं से ऊंचा, बड़ा ऊंचा है हौंसला
हम निकल रहे पँखों की ,परवाज बदल देंगे
हम नई राह के मुसाफ़िर,बुरे रिवाज बदल देंगे
हम मिलकर साथ..............
जब साथ हो मेरा...............

सूनी आँखों में ख़्वाब,हम मिलकर भरेंगे
Blog photo
Share 
Details
Member K.v. Sharma Category गीत 2317 Member
 
सन्देश माँ पिता के लिए 2 year ago
https://m.facebook.com/krishnvandanabeawar/)

#सन्देश सभी माता पिता के लिय कविता
🙇🏻🏅📝📚📝📚🏅🙇🏻

बस्ते नहीं भारी कांधो पे
🏅कुछ उम्मीदे बड़ी भारी है
बस्ते से काँधे नहीं दुखते
🎖उम्मीदों से ज़िन्दगी हारी है

पापा मम्मी के सपनो में 🔬🔭
मेरे सपने टूट गए🕴🏆💭
जो चाहा मैंने कुछ करना🏋🏼🎤🎯
मेरे अपने रूठ गए😒😕😣
पँख नहीं हो चा
Blog photo
Share 
Details
Member K.v. Sharma Category कविता 1611 Member
 
Next >>

Popular Posts
posts जिस सावन मैं तुझ संग भीगूँ जाने कब सावन वो आये
posts जबसे हमको रास जीना आ गया
posts बेटी
posts पति पत्नि के रिश्ते को समर्पित
posts किसी चेहरे का हो जाऊं मगर चेहरा नहीं मिलता
posts रिटायरमेन्ट #सेवनिवर्ति
posts हिंदी दिवस
posts मज़ा मेरी तबाही का जश्न में डूब कर लेना
posts पीएम मोदी के डिजिटल इंडिया की लांचिंग...
posts आप हमें पहचाने कितने
posts लौट आता हूँ वापस घर की तरफ... हर रोज़ थका-हारा,
posts मेरे बारे में तेरा दिल गवाही क्यों नहीं देता
posts तुम्हारा होने में जो मजा है मज़ा वो जन्नत में भी नहीं है
posts बेटा
posts रक्तदान


 
@copyright ShivParashar.com, Developed by Kumar Jay